Alkaline water ke 5 top health benefits kya hai

Alkaline water ke 5 top health benefits kya hai  हम से बहुत इंडिया लोगो को नहीं पता है है. alkaline IONIZED WATER पीने के क्या फायेदे है इस पोस्ट में DETAIL से बताये गया है.

ALKALINE water क्या है

शरीर को स्वास्थ्य रखने के लिये हमारे body को कई संतुलन बनाएं रखने होते है,

जैसे ब्लडप्रेशर, पानी और मिनरल्स का balance रखना इसमें एक और सबसे important balance है

अम्लीय (acid) क्षारीय (एल्कलाइन)का blance.

मानव शरीर प्रकृति से (by nature ) क्षारीय (alkaline) है और कार्यशाली

(by functional ) से अम्लीय (acidic ) है,

सामान्य रक्त का पीएच (Ph) स्तर 7.4 होना चाहिए उससे नीचे होने पर

 एसिडोसिस (acidosis ) विकारहोता है इससे कई health समस्याए आ सकती है.

एसिडोसिस (acidosis ) क्या है ?

शरीर के तरल में अम्ल (एसिड) की मात्रा बढ़ने को एसिडोसिस कहा जाता है.

आमतौर पर यह विकार तब होता है

जब व्यक्ति के गुर्दे और फेफड़े शरीर के पीएच (ph) स्तर को नियंत्रित नहीं कर पाते है.

मेटाबोलिक एसिडोसिस क्या है?

मेटाबोलिक एसिडोसिस गुर्दे (kidney) में होने वाली problem है.

यह विकार तब होता है जब kidney पर्याप्त मात्रा में शरीर से अम्ल (acid) नहीं निकल पाती है

या फिर संतुलन बनाये रखने वाले क्षारीय (alkaline ) तत्वों को अधिक मात्रा में निकल देती है.

मेटाबोलिक एसिडोसिस मुख्य रूप से तीन प्रकार के होते है?

1. डायबिटीज ACIDOSIS 

DIABITES (मधुमेह ) रोग में कम इन्सुलिन बनने में कीटोन्स का निर्माण होने लगता है.

कीटोन्स से शरीर की एसिडिटी बढ़ जाती है.

2. हअईपरक्लोरेमिक ACIDOSIS 

सोडियम बाईकार्बोनेट की कमी से हअईपरक्लोरेमिक ASIDOSIS हो जाता है

यह क्षार रक्त के पीएच को न्युटरल रखने में सहायक होता है

. अधिक दस्त या उलटी होने से ये PROBLEM आ सकती है.

3.लेक्टिक ACIDOSIS 

लेक्टिक एसिड की अधिकता से लेक्टिक एसिडोसिस होने की POSSIBALTY बढ़ जाती है.

यह विकार बहुत सी DIASESE होने की वजह बना सकता है

. जैसे डेली ALCOHAL का सेवन से

HEART ATTACK, CANCER, यकृत विकार, LO BLOOD SUGAR आदि.

लम्बे समय तक व्यायाम से भी शरीर में लेक्टिक एसिड का स्तर बढ़ जाता है.

Alkaline water se 5 top health benefits

kidney पर एसिडोसिस का असर alkaline water kidney  health benefits 

BODY में एसिड और alkaline के  संतुलन बिगड़ने के कारण

kidney एसिड को शरीर से बाहर नहीं निकल पाती है,

इसलिए alkaline तत्वों को आपने आस पास जमा कर लेती है

और एसिड बहुलता होने के कारण ये alkaline तत्व

एसिड से रिएक्ट कर ओक्सीलेट का निर्माण करते है

जिन्हें हम KINDEY STONE कहते है.

जब body में ALKALINE तत्व कम होने लगते है तब एसिड सीधे नेफ्रोन सेल्स पर असर करते है.

और kidney शुरु में नेफ्रोटिक सिंड्रोम और उसके बाद

एन्ड स्टेज रीनल डिसीज़ की और बढ़ने लगती है.

kidney failure symptoms treatment transplant

फेफडो (lugs) पर एसिडोसिस का असर alkaline water lugs health benefits 

यह विकार body में अधिक मात्रा में

कार्बन डाई आँक्सइड (CO2) के जमाव से होता है. normally

फेफड़ (lugs) द्वारा CO2 को साँस के द्वारा बाहर किआ जाता है.

कुछ CASE में ये किर्या normally न होने की वजह से body में CO2 की मात्रा बढ़ने लगती है

इसे रेस्पिरेटरी असिड़ोसिस कहा जाता है.

इसके के कारण जोड़ो की सुजन, उत्तको में घाव होने लगते है और धीरे-धीरे एयर वे कप कसने लगते है

जिसके कारण BLOOD स्ट्रीम में आँक्सीजन को पहुचने में कठिनाई होती है, जो आगे चलकर एलार्जिक

अस्थमा (ASTHAMA)  नामक बिमारी में बदल जाता है.

जिसके कारण सांस लेने में तकलीफ, सर्दी जुकाम, छीक आना, सीने में दर्द होता है.

अगर एसिड की मात्रा को Control नहीं किया गया तो यह ब्रोकाईटिस (BRONCHITIS)

और उसके बाद LUGS के अल्वियोनी (श्वसन थेली) के उत्तको में घाव पैदा करती है

जिसके कारण पल्मोनरी फाईब्रोनिस (PULMONARY FIBROSIS) नामक बिमारी होती है जैसे थकान,

पुरानी खाँसी, निमोनिया, भूख का न लगना, टीबी इत्यादि होने की POSSBILTY बहुत हो जाती है.

दिमाग (BRAIN) पर एसिडोसिस का असर

जब BODY में BLOOD का पीएच (PH ) का LEVEL घटने लगता है

यानि अम्ल (ACID) की मात्रा बढ़ने लगती है तो आर बी सी (RBC) कमजोर हो जाते है

जिससे RBC की आँक्सीजन वहन करने की क्षमता में गिरावट आ जाती है,

न्यूरोन्स को आँक्सीजन कम मिलने के कारण धीरे-धीरे शिथिल हो जाता है

. जिससे BRAIN (दिमाग) की कार्य क्षमता धीमी पड़ने लगती है

और न्यूरो DISEASE होने के खतरे बाद जाते है.

अगर सही TIME पर एसिडोसिस की प्रक्रिया को CONTROL नहीं किया जाए

तो BRAIN न्यूरान्स को बचने के लिए केल्सीफिकेसन का काम START कर देते है

और इस दौरान BRAIN के जिस

हिस्से पर केल्सीफिकेसन (CALCIFICATION) होगा

उस PART पर लकवा ( PARALYSIS) हो जाता है.

Heart पर एसिडोसिस का असर

रक्त (blood)  में पीएच (ph) level घटने के कारण अम्ल (acid) की मात्रा बढ़ने लगती है,

baucuse धमनी और कैप्लरीजमें एसिड प्रोटेकंटिग लेयर नहीं होती,

इसलिए body में अम्ल (acid)के असर से कैप्लारी (capillary)

और धमनियों को बचने के लिये लीवर ट्रॉय ग्लिसराइड (LDL) और वीएलडीएल

का निर्माण करता है, जब ये UNCONTROL होने लगता है,

तो BLOOD में धक्के जमने लगते है जिसके कारण ब्लाकेज़,

HEART ATTACK और कार्डियो (CARDIO) अरेस्ट होने की

POSSIBILITY बढ़ जाती है, जो DEATH कारण बनती है.

लीवर पर एसिडोसिस का असर alkaline water liver health benefits 

एसिडोसिस (ACIDOSIS) का सबसे गंभीर और DANGROUS असर हमारे लीवर पर पड़ता है,

लीवर हमारे body का  SECOND सबसे बड़ा और प्रमुख PART है

हम जो कुछ भी खाते या पीते है, वह लीवर से होकर गुजरता है.

लीवर body के सभी कार्यो को सुचारू रूप से संचालित करने के लिये

अलग –अलग रसायन और इंजाइम (ENZYMS) बनता है,

इसलिए body का रसोईघर भी कहा जाता है.

यह संक्रमण (INFECTION) और बिमारियों से लड़ता है,

हमारे रक्त शकरा (BLOOD SUGAR), कोलोस्ट्रोल इत्यादि के level को नियंत्रित करता है,

हमारे body से विषैले तत्वको बाहर निकालता है.blood के जमने में सहायता करता है,

और बाईल (BILE JUICE) का स्त्राव करता है.

बाइल एक प्रकार का द्रव होता है जो चर्बी (FAT) को तोड़ता है और हमारे पाचन में शामिल करता है.

यह हमारे शरीर का एक ऐसा  अंग है

जिसको उचित देखभाल की जरुरत हमेशा पड़ती है

 .,,,,        ऐसा न होने पर यह बेहद आसानी से क्षतिग्रस्त हो सकता है .

लेकिन आजकल की बदलती LIFE STYLE के कारण

शरीर में एसिडोसिस ( ACIDOSIS) प्रक्रिया बहुत तेज़ हो गयी है,

जिसके कारण हमारे लीवर के बीमार होने की POSSIBILITY बढती जा रही है

  और इन  बिमारियों में प्रमुख है फैटी लीवर की PROBLEM.

alkaline Ionized WATER को COLON सफाई गुण भी कहा जाता है,

यह हायडरेसान, वजन घटने, त्वचा के स्वास्थ्य और DETOXIFYING गुणों में मदद करता है.

मेटाबोलिक एसिडोसिस को रोकने में कैसे सहायक होता है?

जब हमारा पीने का पानी alkaine water IONIZED 

water machine IONISER से निकला ( PASS THROW ) जाता है,

तो इलेक्ट्रोलिसिस (ELECTROLYSIS) के माध्यम से

हाईड्रोजन के एक इलेक्ट्रान को निकाल कर पानी का पीअच (PH) बदल दिया जाता है.

इस प्रकिया के दौरान पानी के मोलिक्युलस (MOLECULES) 15-22 से घट कर 4-6 के बीच आ जाते है

पानी मैक्रो ( MACRO) क्लस्टर से मैक्रो (MICRO) )

क्लस्टर  हो जाने के कारण

बड़ी आसानी से body में हाईड्रेट (HYDRATE) हो जाते है.;’

Alkaline water ke best 6 benefit for health kya hai

 इन कारणों से कोशिकाओं में अम्लीय

और केमिकल बड़े आसानी से डीटोक्सीफाइड (DETOXIFIED) हो जाती है

तथा शरीर का अम्लीय और क्षारीय संतुलन ( alkaline water balance) फिर से बन जाता है

और ACIDOSIS की प्रक्रिया स्वत: ही स्थगित हो जाती है

जिसके कारन BODY के सभी SERIOUS

और जटिल बिमारिया आपने आप नियंत्रण में आने लगती है! 

100 में 99% में लोगो का मानना

जिसमे  scientific research भी शामिल  alkaline water health के लिए benefits है !

anti-aging properties

(alkaline water की help से ऑक्सीजन

मानव body में अधिक तेज़ी से अवशोषित होते हैं)

colon-cleansing या हमारे अंगो की अन्दर से सफाई करता है! 

immune system को strong बनता है जिससे रोग होने को possibility कम होती है!  

गैस  का बनना,  खाना का हजम न होना (hydration) चेहरा की सुन्दर बनती है 

और skin health best रखती है !

वजन घटना weight loss या वजन को control में रखती है 

कैंसर प्रतिरोध (cancer resistance)

कैंसर के tissue को body में पनपने से रोकती है !

alkaline के health benefits जिसमे kidney,lugs,brain,heart,liver, शामिल है !

जबकि 1 % लोगो का मानना है

high ph water या alkaline water

पीने से gastrointestinal issues त्वचा की जलन पैदा (skin irritations) कर सकती है।

हाथ का कांपना  (hand tremors), 

मांसपेशी या चेहरे पर झुनझुना या सरसराहट (muscle  या face itching )

जी मिचलाना (nausea),

उल्टी (vomiting) या उलझन महसूस करना शामिल है !

दोस्तों एक alkaline expert ही आपको या बता  सकता या  guide कर सकते है

आपको कितने ph का water पीना चाहिए ! 

इसको आप इस तरह भी समझ सकते है

अगर आप किसी शहर (city) में रहते है आप वह से दूध (milk) पीते है !

आप किसी या कही गाँव में जाते है!

जहा आपको गाय या भैसे का pure milk या दूध आपको पीने को मिलता है

आप उसको पी लेते है !

उसके बाद आपका पेट ख़राब हो जाता है या आपको दस्त भी लग सकते है!

इसका   reason ये की आपकी body का pure milk या दूध पीने की आदत या capacity नहीं है

क्युकि आप शहर में water मिला हुआ दूध पी रहे जो light या हल्का होता है ! 

इसलिए आप pure milk नहीं पी पायेगे पर इस मतलब ये नहीं की वो milk या दूध अच्छा नहीं है! 

बस उस milk या दूध को पीने की कभी आप वो capacity नहीं है

पर अगर आप थोडा-थोडा वो milk पीने लग जाये

तो आपकी body वो पीने की आदत या capacity उस हज़म करने की बना लेगी! 

जो की health के लिए बहुत benefit होगा ! 

 में एक ऐसी company के managing  director को जानता हु

जिनको alkaline jal पर 5 से साल ऊपर का अनुभव या experience है !

आप आपना नाम, शहर(city) का नाम, और mobile phone comment करे !

अगर आप Delhi में रहते है तो आपके घर में alkaline का free live demo भी वो करवा सकते या कर सकते ! 

और अगर Delhi से दूर कही रहते है

तो आपको mobile phone पर आपको उसकी जानकारी दे सकते है!  

NOTE: इसलिए दोस्तों हमें DAILY LIFE ME ALKALINE WATER pina   चाहिए

जिससे हमें और हमारे परिवार कोई dangerous बिमारी न हो ! 

दोस्तों मेरी Alkaline water ke 5 top health benefits kya hai ये पोस्ट आपको कैसी  लगी !

Leave a Comment