Cystic fibrosis symptoms kya hai

Cystic fibrosis symptoms kya hai  Cystic fibrosis एक वंशनुगत बीमारी (hereditary disease) है  जो फेफड़ो (lungs) और पांचन तंत्र (digestive system) प्रभावित करती है !

हमारी body के function normally पतला और हल्का liquid बनाती है जो lugs और पाचन तंत्र में घूमता है! इसे बिमारी में हमारी body मोटा (thick) और  गाढ़ा (sticky) चिपचिपा liquid  या बलगम बनती है

फेफेडो का संकरण (lung infections) हो सकता है!

इस बीमारी में जो की गढ़ा(sticky) और मोटा (thick) होने की वजह से फेफड़ो में या अग्न्याशय (pancreas) रुक  या जाम सकता है !

जो की lungs उसको बाहर नहीं निकल पाते! जिसका परिणाम फेफेडो का संकरण (lung infections) बन सकता है!

जिससे साँस (breathing) लेने में problem भी होने लग सकती है!

Cystic fibrosis बीमारी में सबसे ज्यादा लोगों में मृत्यु का सबसे आम कारण श्वसन विफलता (respiratory failure)या सांस न ले पाना है!

फेफड़ों (lungs) में बलगम से रुकावट से bronchitis और न्यूमोनिया (pneumonia) जैसे फेफड़ों के संक्रमण (lungs infection) का खतरा बढ़ जाता है!

Cystic fibrosis and Cystic fibrosis symptoms kya hai

पांचन तंत्र (digestive system) प्रभावित करती है !

हमारा पांचन तंत्र (digestive system) भोजन को तोड़ने बलगम  को enzymes रोक सकता जिससे अग्न्याशय (pancreas) के कार्य में हस्तक्षेप होता है

पाचन तंत्र (digestive system) समस्याओं का परिणाम है,

जिससे हमारे शरीर जो पोषण (nutrition) तत्व मिलने चाहिये!

वो नहीं मिल पते है जिसका नातिजा होता है कुपोषण ( nutritional deficiency).

इसके साथ  ही यकृत रोग (liver disease)

और मधुमेह (diabetes) या osteoporosis जैसी dangerous बिमारिया भी हो सकती हैं।

Cystic fibrosis बहुत dangerous बीमारी है इस बीमारी की लोगो की life normal लोगो की life से कम हो जाती है!

Cystic fibrosis Symptoms kya hai

इस बीमारी में जो की गढ़ा (sticky) और मोटा (thick) बलगम बनता

वो फेफड़ो में या अग्न्याशय (pancreas) रुक  या जाम सकता है !

फेफड़ों (lugs) से अंदर और बाहर जाने वाली नलियों को जब बलगम आता या रोकते हैं।

बार-बार फेफड़ों में संक्रमण (lugs में infection)

नाक के मार्ग या एक भरी हुई नाक

जिसके कारण लगातार खांसी हो (persistent coughing)

जो की बलगम (थूक) पैदा करती है

वजन का बढ़ना (weight gain)

साँस लेने गले में घरघराहट (wheezing) है! या सांस फूलना !

साँस लेने में (shortness of breath) दिक्कत का होना !

बार-बार फेफड़ों में संक्रमण

नाक (nose) मार्ग भरा होना  या एक भरी हुई नाक (nose)

पाचन लक्षण और लक्षण गाढ़ा बलगम भी नलिकाओं को अवरुद्ध कर सकता है

जो आपके अग्न्याशय (pancreas)  से पाचन enzymes को आपकी छोटी आंत तक ले जाता है।

इन पाचन enzymes के बिना,

आपकी आंतें आपके द्वारा खाए गए भोजन (food) में पोषक ( nutritional) तत्वों को पूरी तरह से अवशोषित करने में सक्षम नहीं होती हैं।

परिणाम अक्सर होता है: गंभीर कब्ज

मल पास करते समय बार-बार तनाव होना मलाशय के हिस्से का कारण बन सकता है

चिकना, भारी मल हो सकता है (greasy, bulky stools)

doctor इस रोग पहचान के blood टेस्ट से कर सकते है!

Cystic fibrosis के मरीज़ लोगों में पसीने में नमक (salt) का स्तर सामान्य स्तर से अधिक होता है।

जब वे अपने बच्चों को चूमते (kiss) हैं तो माता-पिता अक्सर अधिक नमक का स्वाद (test) ले सकते हैं।

pregnancy tips aur diet healthy pregnacy ke liye

ये बीमारी new born baby या नवजात बच्चे को भी हो सकती है  

ये परिवार से DNA मिली बीमारी है! ये new born child या नवजात बच्चे को बीमारी तब होती है

जब माँ और बाप दोनों में इस बीमारी के दोष की जीन उनमे हो! जिससे उस बच्चे को ये बीमारी पकड़ या हो जाती है!

अगर एक नवजात बच्चे को ये बीमारी है और इसका पता एक महीने में हो पहले हो जाये तो बच्चे में ये रोग ज्यादा बढ़ने रोक जा सकता है!

पर इसके लिए आपको Cystic fibrosis के रोग की या Cystic fibrosis  symptoms पहचान होनी चहिये ! जिससे बच्चे उसही महीने महीने में इलाज़ हो जाये!

इस रोग के signs और symptoms अलग-अलग भी हो सकते है! कुछ में symptoms  सुधर या बिगड़ भी सकते है !

जो time और आपकी डेली lifestyle पर depend करता है !. कुछ लोगो को युवावस्था तक इस रोग के symptoms  या अनुभव ही नहीं होता की उनको ये बीमारी है!

Cystic fibrosis का Treatment

इसका कोई इलाज़ (cure, treatment ) नहीं है!

लेकिन अच्छा खान-पान protein और vitamin से गढे बलगम या इस liquid को पतला या body से बाहर निकले में मदद कर सकता है!

वायुमार्ग की निकासी (Airway clearance)

doctor कुछ व्यायाम या exercise  बता सकते है

जिससे साँस लेने में आसन हो या बलगम को बाहर निकला जा सके ! कुछ दवा (medicine ) भी दे सकते है जो बलगम को पतला कर सकती हैं

bacteria को मार सकती हैं और वायुमार्ग की निकासी में सुधार कर सकती जिससे साँस लेना आसन हो!

Cystic fibrosis के मरीज़ को साफ़ और सफाई का ख्याल ज्यादा रखना चाहिए!

हाथो को खाना खाने से पहले या हाथ साफ रखे ! washing the hand frequently.

धूम्रपान न करें (not smoking)

ऐसे लोगों से अनावश्यक संपर्क से बचें, जिन्हें जुकाम (colds) या अन्य संक्रामक (infection) बीमारियां( illnesses) हैं

जैसे उनसे हाथ मिलना या उनके रहने पर खांसी या छिकने से वो इन्फेक्शन से आपको न हो!

uterus cancer kya ho sakta hai ? uterus infection se 

पाचन संबंधी के लिए पोषण चिकित्सा (Nutritional therapy)

पाचन तंत्र को जो पोषक तत्वों आप से रहे वो रोग को कम या बढ सकते है

इसलिए आप अपने डॉक्टर के साथ अपने आहार पर चर्चा करनी चाहिए।

एक पोषण विशेषज्ञ या आहार विशेषज्ञ पाचन लक्षणों के प्रबंधन में मदद कर सकते हैं।

जैसे कौन-कौन vitamin या protein फ़ल और food ले !

जिससे आपको अच्छे पोषक तत्व मिले जो आपकी body जरुरत को पूरा कर सके !

जो की Cystic fibrosis के मरीज़ health healthy बनाए रखे !

अच्छा पोषण very important है,

क्योंकि उस व्यक्ति के  फेफड़ों (lugs) के संक्रमण (infection) के बढ़ते जोखिम के खिलाफ एक मजबूत रक्षा कवच बनाए रखने में मदद करेगी !

दोस्तों मेरी ये पोस्ट Cystic fibrosis symptoms kya hai आपको पसंद आये आगे share करे!

जिससे इस बीमारी की जानकारी ज्यादा से ज्यादा लोगो को हो! हमारी India और पुरे world के लोगो healthy रहे!

reference : by  About Cystic Fibrosis | CF Foundation

Leave a Comment