Independence day aur august India ke liye kyo important hai ?

दोस्तों  भारत देश में अगस्त के महीने में ऐसे  important events and major turning point हुए जिसे   भारत देश हमेशा  याद रखेगा अगस्त के महीने में हमारे देश को आजादी मिली जिसे 15 अगस्त को  स्वतंत्रता  दिवस के रूप भारत में मनाया जाता है !   इस पोस्ट में  आपको  India ke liye kyo important hai ? August aur Independence day उसके बारे में आपको  बताये  जाएगा ! 1757 में  प्लासी के युद्ध  में ब्रिटिश की जीत के बाद भारत में east India company का शासन शुरू हुआ! 

India ke liye kyo important hai ? august aur Independence day

भारत में 12 अगस्त 1765 में  EAST INDIA COMPANY और  मुग़ल सम्राट शाह आलम  के बीच संधि 

12 अगस्त 1765 में भारत में ब्रिटिश शासन की शुरुआत हुई !  जो भारत के very importent और TURNING POINT में से एक था!  इलाहाबाद के संधि पर हस्ताक्षर किये गए थे! EAST INDIA COMPANY जो भारत में 1600 में आये थे !  जिसने धीरे-धीरे india पर आपनी पकड़ बनाइ या कह की आपने चुगल में फस लिया!

इस संधि से पहले EAST INDIA COMPANY भारतीय सम्राटो के साथ बहुत अच्छे व्यापारिक सम्बन्ध (ONLY TRADING RELATION INDIA EMPERORS) थे!  ये संधि बक्सर की लड़ाई का परिणाम थी जो EAST INDIA COMPANY और मुग़ल सम्राट शाह आलम के बीच लड़ी गई थी! जिसमे मुग़ल सम्राट की हार हुई जिसके परिणाम सुरूप उनको संधि करनी पड़ी!

जिसके Rule EAST INDIA COMPANY के रोबर्ट क्लाइव द्वारा तैयार किये गए थे! जिस पर संधि की गई थी! जिसमे उनको दीवानी FISCAL RIGHTS राजकोषीय अधिकार दिए! जिसमे आज के time के बिहार, बंगाल, और उड़ीसा आते है!

इस संधि में EAST INDIA COMPANY को 40,000 वर्ग किलोमीटर कर योग्य भूमि प्रदान की गई जिससे EAST INDIA COMPANY राजा की सहमती के बिना सीधे कर आपने पास रखने के हकदार थे जिसके बदले उनको सालाना 26 लाख रुपये मुग़ल सम्राट को भुगतान देना था!

कोरा और इलाहाबाद के जिले भी मुग़ल सम्राट अवध के नवाब को वापस कर दिए गए!उन से युद्ध में हुए नुक्सान के लिये 53 लाख रुपये East India company को देने पड़े थे !  East India company की अदालत ने एक सहायक सेना को संचालित करने के करने के लिये पैसे देने का वादा लेकर उनको अवध में वापस भेज दिया गया!

13  अगस्त  1947 की importent घटना 

  • 13 अगस्त को 1947 भारत ने सोवियात संघ के साथ मैत्रीपूर्ण सबंध स्थापित करने का फैसला लिया था!
  • 13 अगस्त को 1947 को त्रिपुरा की महारानी कनचंप्रवा देवी ने भारत में सामिल होने के लिये और भारत में आपने राज्य मिलने के (विलय ) समझोते पर सहमाती पत्र पर हस्ताक्षर किया!
  • स्वतंत्रता पाकिस्तान में जाने के लिये मुस्लिम महिलाओ और मुसलमानो का भारत से पकिस्तान की तरफ जाना तय किया गया जिसके लिये 13 अगस्त को 1947 नई दिल्ली से train में सवार होना शुरु किया! उस ही तरह पाकिस्तान महिलाओ और हिन्दू लोग आना तय किया गया!  

14 अगस्त  1947 का  दिन  और  भारत  और  पकिस्तान  (India ke liye kyo important hai ? august aur Independence day)

ब्रिटेन दुसरे विश्व युद्ध (second world war) हार की वजह से कमजोर पड गया ! जिससे उसकी पकड़ भारत पर कमजोर होने लगी थी जिसकी वजह से भारत ब्रिटेन से  आपना शासन समाप्त करने का विचार करने लगे थे! 

जब ब्रिटिश भारत से चले गए! एक मुस्लिम राजनीतिक दल ने पाकिस्तान की माग की थी!

भोपाल के नवाब हमीदुल्ला खान ने स्वतंत्रता रहने की माग की थी! उन्होंने खुद का एक संघ तैयार किया जिसे हैदरबाद के निजाम ने जारी किया! इसे भारत के दो हिस्से होना निश्चित हो गया मुसलमान का अलग राज्य होगा! जिसका नाम पकिस्तान होगा! 14 अगस्त को पाकिस्तान का स्वतंत्रता दिवस घोषित किया गया था! 

पंडित जवाहरलाल नेहरु, मोह्ममद अली जिन्ना, अबुल कलाम आजाद, मास्टर तारा सिह आंबेडकर जैसे

प्रमुख भारतीय नेता धार्मिक रुपरेखा के लिये भारत के विभाजन के लिये सहमत हुए! सिखा और हिन्दू क्षेत्रो को भारत के रूप रखा और मुस्लिम के क्षेत्रो के लिये पाकिस्तान के रूप रखा! जिसकी वजह से विभिन्न धार्मिक समूहों

में निवास करने वाले लोगो की इस निर्णय life change कर दिया उनको एक से दूसरी जगह आपने धर्मो की वजह से जाना पड़ा जिस आप पाकिस्तान और india कह सकते है! जिसमे 250,000 से 500,000 से भी ज्यादा लोगो की  जाने गई! 

15   अगस्त 1947  में लाखो लोग के संघर्ष और बलिदान के बाद मिली आजादी के लिये एक तरफ ख़ुशी और दूसरी तरफ देश विभाजन का दुःख भी था जिसमें लाखो लोगो जान चली गई! धर्म के आधार बटवारे की वजह बनी! लाखो लोगो को आपने पुशातेनी घर को छोड़ कर दूसरी जगह शरण लेनी पड़ी! इस दौरान जो नरसंहार (खून-खराबा) हुआ वो बहुत डरने वाला था! 

जो देश पहले एक साथ रहता था!  भारत के बटवारे के बाद लोग एक दुसरे से नफरत करने लगे और एक दुसरे के खून के प्यासे हो गए! सिखा और मुस्लिम एक दुसरे के खून के प्यासे हो गए ! दोनों देशो की तरफ से चलने वाली train जो आ रही थी उनके डिब्बो में लाशे थी! महिलाओं और बच्चियों का रेप किया गया और उन मर दिया गया था ! 13 अगस्त 1947 को वो मनहूस दिन था

15 अगस्त 1947  को हमारे देश आजाद हुआ इस दिन  हमारे देश में Independence day  मनाया जाता है ! इस ही दिन India ke first prime ministe पंडित जवाहर लाल नेहरू  बने थे ! 

India आपना 73 वा स्वतंत्रता दिवस मन रहा है! 200 वर्षो गुलामी में जीवन बिताने के बाद भारत को आज़ादी मिली है! 15 अगस्त 1947 को  पंडित जवाहर लाल नेहरू स्वतंत्रता भारत के पहले प्रधान मंत्री बने! ( the  first prime minister of independent of India ) 

वो ऐसे व्याक्ति थे जो आपने संगठन के साथ जनता को प्रभावित कार सकते थे! जो जनता की feeling को बहुत अच्छी तरह महसूस कर सकते थे! स्वतंत्रता दिवस पर राष्ट के लिये नेहरु का सन्देश (message of nation) 14 अगस्त 1947 को आधी रात (midnight) को आया था !

पंडित जवाहरलाल नेहरु ने सविधान सभा के सदस्यो को वफादारी की शपथ लेने को कहा! शपथ ग्रहण समारोह आयोजित किया गया था!  भारतीय ध्वज पहली बार केन्द्रीय गुम्बंद पर सुबह 10:30 बजे फहराया गया था! स्वतंत्रता भारत का राष्ट्रीय ध्वज फहराया गया! जिसके बाद पंडित जवाहर लाल नेहरु आपना पहला भाषण( speech) जो council house में थी!  जहा चीनी, अमेरिकी, डच राजनियक भी संसद में मौजूद थे!

पंडित जवाहर नेहरु ने कहा “ आज हम दुर्भाग्य की अवधि को समाप्त करते है और भारत खुद को फिर से आपने आपको बनयेगा! “We end today period of ill fortune and India discovers herself again”

संघ सर हरिलाल जकिसुदास कनिया जो संघीय न्यालालय के मुख्या न्यायाधिष (justice) थे, इस दिन इन को भारत का मुख्या न्यायाधीश बनाया गया था!

भारतीय सविधान का निर्माण  (India ke liye kyo important hai ? August aur Independence day)

भारतीय राष्टीय स्वयसेवक संघ ने भारत का सविधान निर्माण किया था!

26 नम्बर 1949 को भारत के लिये लोकतांत्रिक धरमनिरपेक्ष सविधान अपनाया था!  जिसकी राष्टीय (nation) और अन्तर्राष्ट्रीय (internation)  स्तर पर तारीफ या सराहना की गई थी! लेकिन इस आजादी को पाने के

 हमारे देश के लाखो लोग के सघर्ष और बलिदान को कभी नहीं भूलना चिहिए जिन बदौलत आज हम आजाद देश में रहा रहे है!

15 अगस्त का भारत में क्या महत्व रखता है!  (India ke liye kyo important hai ? August aur Independence day )

भारत में हर साल 15 अगस्त मनाया जाता है इसे में राष्टीय अवकाश होता है! भारत की सरकार के प्रधानमंत्री इस दिन लाल किले जो नइ दिल्ली में है!

भारत का राष्टीय ध्वज (flag) तिरंगे को फहरा कर इस समरोह या ये कहे देश सबसे बड़े festival को लोग के साथ मानते है! जिसके बाद प्रधानमंत्री का भाषण होता है जिसमे सरकार की पिछले साल की उपलाब्धिया और आने वाले साल की नइ योजनाओ के बारे में बताया जाता है ! हमारे स्वतंत्रता सेनानियों को याद किया जाता है और उनको श्रध्दांजलि दी जाती है!

ध्वजारोहरण समारोह भारत के विभिन्न राज्यों में मनाया जाता है ! स्कूलों में, college में बच्चो और बड़ो द्वारा देशभक्ति कार्यक्रम मुख्या आकर्षण होता है! लोग पतगबाज़ी को स्वतंत्रता दिवस से जुड़े आयोजन के रूप मानते है पतग जैसे आसमान में कही भी उड़ सकती वैसे ही हमारा देश भी आजाद है !

list of all prime ministers in India 

1. Jawarharlal nehru (1947-64) 15 अगस्त 1947 से, 27 मई 1964 तक,  16 साल 286 दिनों तक  2. Gulzarilal nanda (1964)1st time  27 मई 1964 से,9 जून 1964 तक 13 दिनों तक

3. Lal bahadur shastri (1964-66)  9 जून 1964 से 11 जनवरी 1966  तक 1 साल और 216 दिनों तक

4. Gulzarilal nanda (1966)2nd time  11 जनवरी 1966 से 24 जनवरी 1966 तक  13 दिनों तक

5. Indira Gandhi  (1966-77)1st time  24 जनवरी से 1966 से, 24 मार्च 1977 तक 11 साल 59 दिनों तक

6. Morarji desai  (1977-79)  24 मार्च 1977 से, 28 जुलाई 1979 तक  2 साल 126 दिनों तक  

7. Charan singh (1979-1980)  28 जुलाई से 1979 से, 14 जनवरी से 1980 तक 170 दिनों तक

8. Indira Gandhi (1980-84)2nd time   14 जनवरी 1980 से 31 अक्तूबर 1984 तक, 4 साल और 291 दिनों तक

9. Rajiv Gandhi (1984-89)31 अक्तूबर से 1984 से  2 दिसंम्बर 1989 तक  5 साल 32 दिनों तक

10. Vishwanath pratap singh (1989-90) 2 दिसम्बर 1989 से 10 नवंबर 1990 तक 343 दिनों तक

11. Chandra shekhar(1990-91) 10 नवंबर 1990 से, 21 जून 1991तक, 223 दिनों तक  

12. P.v. narasima rao ( 1991-96) 21 जून 1991 से 16 मई 1996 तक 4 साल  330 दिनों तक  

13.  Atal bihari Vajpayee (1996)1st time 16 मई 1996 से 1 जून 1996 तक 16 दिनों के लिये

14. H.d. deva gowda (1996-97) 1 जून 1996 से, 21 अप्रैल 1997 तक, 324 दिनों तक

15. Inder k. gujral (1997-1998) 21 अप्रैल 1997 से,   19 मार्च 1998 तक  332 दिनों तक

16. Atal bihari Vajpayee (1998-2004)2nd time  19 मार्च1998, से 22 मई 2004 , तक 6 साल 64 दिनों तक

17. Manmohan singh (2004-2014) 22 मई 2004 से  26 मई  2014 तक  

18. Narendra modi (2014 – से अब तक )2014

East india company  ने  india को  almost 200 साल तक आपना गुलाम बनाया रखना! 

 भारत को  East India company ने almost 200 सालो तक आपना गुलाम बनाया रखा और उस पर शासन करने के लिये लोग में फुट डालो और शासन करो की निति को आपना कर शासन किया!  वो यही   चाहते थे! भारत के लोग एक दुसरे नफरत करते रहे और एक साथ न हो !

जिससे ब्रिटिश भारत में आराम से शासन करता रहेगा उनको मालुम था !  अगर भारतवासी मिल कर कोशिश करे

तो वो भारत पर ज्यादा दिनों तक शासन नहीं कर सकते थे! इसके लिये उन्होंने लोगो के दिल-दिमाग में नफरत का जहर डाला या परमाणु बम डाल दिया! जो की अमेरिका ने जो जापान पर विश्व युद्ध के time दो परमाणु बम डाले थे उनसे भी ज्यादा खतर्नाक था !  क्योकि जापान उन बमों से उभर कर आगे बढ़ गया और आपने देश को कामयाब बना दिया !

जब की  India उस फुट डाला या भेदभाव (परमाणु बाम)  से उभर नहीं पाया! जिसने भारत का बटवारा कर दिया! 

एक साथ रहने वालो दिल भी बदल दिए थे ! एक साथ प्यार रहने वालो के दिल में नफरत भर दी! इंडिया के बटवारे की वजह धार्मिक थी!  जो ब्रिटिश शासन काल लोगो दिमाग पैदा हुई थी! जिस दिन भारत के prime minister की list में मुसलमानो के नाम आने शुरु हो जायेगे !  उस दिन अब समझ जायेगे की India धर्म के भेदभाव से उभर चूका है! 

जब की धर्म सिर्फ god, अल्लाह, भगवान को याद करने का एक तरीका या  trick है आप कह सकते है कोई भी धर्म देश से बडा नहीं होता है!  सबसे पहले देश और उसके बाद बाकि शेष !

जब हम इस तरह की सोच को रखेगे ! तब ही हम आपने देश को smart India और खुशहाल India बना सकते है! सभी धर्म के लोग India में एक समान  है ! ये हमारा देश का सविधान भी कहता है! 

ये भी सच्चे देशभक्त  थे ! 

  • लाल किले पर पहला तिरंगा जनरल शहनवाज़ खान ने फहराया था !
  • ” इन्कलाब जिंदाबाद” का नारा हसरत मोहानी ने दिया था !
  • तराना-ए-हिन्द  ” सारे जहा से अच्छा, हिन्दुस्ता हमारा” अल्लामा इकबाल ने लिखा था !
  • 1857 ” मादरे-वतन  भारत की जय “का नारा अजीम उल्लाह खान ने दिया था !
  • 1921 में बिस्मिल अजीमाबादी ने लिखा था ” सरफरोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है”
  • अंग्रेजो के लिये ” भारत छोडो” का नारा युसूफ मेहर अली ने दिया था था !
  • भारत के राष्ट्र ध्वज (flag) तिरंगा का डिजाइन एक हैदराबादी मुस्लिम महिला सुरैय्या तैय्यब जी ने तैयार किया था
  • जो की महान नेता बदरुद्दीन तैय्यब जी की धर्मपत्नी थी !
  • ” जय हिन्द” का नारा आबिद हसन साफरानी ने दिया था !

India ke liye kyo important hai ? august aur Independence day

 

जय हिन्द ! दोस्तों  happy Independence day 

मेरी पोस्ट India ke liye kyo important hai ? August aur Independence day आपको अच्छी लगी हो comment करे और share करे thanks

all Indian is one family

Leave a Comment