Narak ya dozakh (hell) kya hai?

Narak ya dozakh (hell) kya hai? hell and hell difference between इस की पोस्ट में आपको FIRST ये

इनफार्मेशन दी जायेगी की ये Narak ya dozakh kya hai? और hell and hell difference between तो

(massengers) पर विश्वास नहीं करते है नरक एक सचाई (truth) है! जहा दर्द (pain) और दंड (punishment)

मिलेगा!  नरक ऐसी जगह है जिससे बुरा कुछ नहीं होगा ! नरक अपमान और नुकसान की जगह है! गलत काम करने

वालो को कभी कोई मददगार (helpers) नहीं मिलेगा! (कुरान 3:192)

इस्लामिक धर्मग्रन्थ में नरक (hell) का वर्णन स्पष्ट लिखा है क़यामत का दिन जब लोगो का फैसला होगा

JUDGMENT DAY में विश्वास करता है

उस ऐसे काम करने चाहिए जो उसको नरक (hell) में न डाला जाये!  नरक में लोगो रोयेगे (weep) और वे तब तक

रोयेगे (weep) जब तब जब तक उनकी आँखों में एक भी आंसू होगे वो रोते रहेगे! फिर वह खून के आंसू (weep)

रोयेगे! जब उनकी body में खून है!

पर उनकी सज़ा (punishment) कम नहीं होगी ! उन्हें आपने पाप की सजा मिल रही होगी उन्हें आपनी गलती का

एहसास होगा! बुरे लोग अपने लिये मौत (death) को मागेगे क्योकि नरक (hell) गर्मी महसूस कर रहे होगे और उन्हों जंजीरों बांध कर सजा दी जाएगी!

उनकी चीखे जोर-जोर (louder) से उठेगी और अल्लाह उम्मीद (hoping) करेगे वो उनको नरक से निकल दे!

अल्लाह के इलाफ जिसकी भी पूजा की गई होगी ये भी भगवन (god) होगे उन्हें नरक (hell) में डाल दिया जाएगा वो

भी अपमानित (humiliate) होगे इससे साबित हो जाएगा उनके पास कोई शक्ति (power)नहीं थी!

स्वर्ग या जन्नत paradise और नरक या जहन्नम hell की मौजूदी पर Narak ya dozakh (hell) kya hai? hell

Narak ya dozakh (hell) kya hai? hell and hell difference between
Narak ya dozakh (hell) kya hai? hell and hell difference between

नरक (hell) जिसका) इस्लामिक गर्न्थो में अलग-अलग नाम से है

जहीम आग- धधकती आग के कारण, जहानम (नरक )-अपनी  गहराई के कारण!

दुसरे धर्मो में भी स्वर्ग (paradise) और नरक (hell) के होने की बात कही गई है!

जो नरक (hell) में जाएगा और उसमे ही बना रहेगा क्योकि न स्वर्ग (paradise) में मौत (death) है ना नरक में मौत (death) है उस में रहने वाले निवास हमेशा forever) के लिये उस में रहेगे! इस की स्थान (location) अल्लाह के सिवा किसी को नहीं पता है!

नरक में पहरा देने वाले प्रमुख देवदूत (angel) का नाम मलिक होगा जैसे की कुरान में लिखा है बुरे लोग हमेशा के लिये नरक (hell) में रहेगे उस दर्द (pain) और पीड़ा को हल्का नहीं किया जाएगा! वो गहरे पछताव में दुःख और निरशा में डूबे रहेगे! खुदा ने उनके साथ अन्याय नहीं किया, लेकिन वे गलत काम करने वाले थे! वो देवदूत (angel) मलिक से कहेगे की तुम अल्लाह (god) से कहो हमें नरक मुक्त कर दो! हमें अच्छे काम करेगे! अल्लाह की तरह से बात ये है हम तूम्हारे लिये सच्चाई (truth) लाये थे लेकिन अधिकाश लोगो सच्चाई (truth) से नफ़रत की है!

नरक कितनी बड़ी है (hell का size) Narak ya dozakh (hell) kya hai? hell

इस आकार(size) नरक (hell) विशाल (huge) और बेहद गहरा(immensely deep) है असख्य लोग (innumerable people) नरक में प्रवेश (enter) करेगे  इसके निवासियों के कंधो(shoulders) के बीच की दुरी लागतार चलते रहने तीन दिनों (days) के बराबर होगी सभी पापियों को घर होगा और अधिक आने की जगह होगी! अल्लाह कहेगे (god says) नरक (hell) से पूछेगे “ क्या तुम भरे हो?” वो ये कहेगा,क्या कोई और आने वाला है (कुरान 50:30)

नरक (hell) की तुलना एक चक्की (mill) जा सकती है जो हजारो टन आनाज (grinds) पीसती है और फिर आने का इंतज़ार (waits) करती है!  मोहम्मद सल्लालाहु अलैहि वास्लम (messenger of god) कुछ लोगो के साथ बैठे थे तो एक दम जोर सी आवाज़ आइ कुछ गिरने की आवाज़ सुनी! उन्होंने पैगम्बर से पुछा की आप जानते है ये क्या था उहोने कहा की “ यह 70 साल पहले नरक (hell) में फेका गया एक पत्थर (stone ) था और यह जो आब तक नरक (hell) के रस्ते (way) में था! जिसने जितने ज्यादा या बुरे काम किये होगो उसके हिसाब उस सज़ा दी जायेगी!

एक बुरा इंसान लोगो को धोका देकर लोगो के खून कर के या घिनोने (scorner and mocker) काम कर के धन (money) को इकट्ठा (collect) करता है और वो खुश (happy) होता है पर वो धन (money) उस को अमर (immortal) नहीं बना सकता है! उस को मरना है और वो नरक (hell) में फेका जाएगा!

Narak ya hell ke punishment

नरक के इंधन(fuel) बुरे इंसान और पत्थर (stone) है अल्लाह कहते है जो अच्छे काम करते वो या अल्लाह पर विश्वाश करते बुरे काम न करे आपने आप और आपने परिवार को hell की आग से बचाओ जिस का इंधन fuel) बुरे इंसान और पत्थर (STONE) है! नरक मे गर्म हवा (HOT WIND) होगी और पानी उबल(WATER BOILING) रहा होगा होगा और छाया (SHADOW) नहीं होगी ना ठंढा होगी नरक धुआ
(SMOKE) ही छाया(SHADOW) होगा! जो आराम (COMFORTABLE) की जगह नहीं है!

अल्लाह नरक के लोगो के चहरो (faces) को काला (black) कर देगे! “ दिन में कुछ चेहरे सफ़ेद हो जाये और कुछ काले रहे जायेगे! ये वो है जो जान बुझ कर सच को झुट्लाते (reject faith) थे!

उनके सिर पर खोलता हुआ पानी (super hot) डाला जाएगा उनकी खाल (skin) और जिस्म (body) या तक हड्डिया (bone) भी पिघल जायेगी फिर अल्लाह हुकम (oder) देगे जिस्म
(body) को वैसे ही बन जा वो वैसे बन जाएगा फिर उस पर खोलता हुआ पानी (super hot )डाला जाएगा! ऐसे ही चलता रहेगा नरक में!

नरक में सबसे हलकी सज़ा (lightest punishment) जिसे दी जा रही होगी उसके पैरो (foot) के तालवे (arch) के नीचे एक जलता हुआ अंगारा रख दिया जाएगा उसकी गर्मी की वजह से उसको दिमाग तक उबाल (brain boil) जाएगा ! वह इंसान सोचगा(person think)  उस से बड़ी सज़ा किसी को नहीं दी जा रही होगी पर उससे नहीं पता होगा की उस की सज़ा (punishment) सबसे कम वाली सज़ा है !

नरक में लोगो का level या डिग्री Narak ya dozakh kya (hell) hai? hell and hell

नरक (hell) की सज़ा डिग्री (degree) में अलग-अलग होगी ! नरक (hell) में जो लोगो होगे एक की दर्द (pain) और तकलीफ दुसरे से अलग होगी! किसी की ज्यादा किसी की थोड़ी कम होगी !

लोगो के कर्मो के अनुसार एक स्तर (level) पर रखा जाएगा! मोहम्मद रसुअल्लाह सलालाहुँ अलेहि वासल्लाम (messanger of god ) ने कहा है जब उनको नरक की आग (fire) में डाला जाएगा

तो कुछ ऐसे होगे जिनकी आग टखनो (ankles ) तक पहुच जायेगी कुछ कैसे होगे उनके घुटनों (knees) तक, कुछ ऐसे होगे जिनकी कमर (waists) तक, कुछ ऐसे होगे जिनको गर्दन (neck) तक आग आ जायेगी !

नरक (hell) में जो लोगो (people) होगे उन में से बहुत से लोगो ने दुनिया (world) में जीवन में बहुत ख़ुशी (most pleasure) पाई होगी!  उन को नरक( hell) की आग (fire) में डाला जाएगा और फिर उन से पूछा जाएगा आदम के बेटे क्या तुमने कुछ अच्छा देखा(ever seen anything good) या तुमने कभी आन्नद (ever enjoyed any pleasure) के पल को जिया है !

वह कहेगे नहीं अल्लाह नरक में लोगो(people)को  डालेगे कुछ क्षण (few monents)में वो इंसान दुनिया (world) सारे सुखो को भूल (forget) जाएगा जो उसने दुनिया(world) धोके (cheat) और मक्कारी से हासिल किये होगे! आपने सारे दुनिया का अच्छे time को भूल (forget) जाएगा!  

Narak ya dozakh ka खाना और पानी Narak ya dozakh (hell) kya hai? hell

नरक (hell) की आग(fire) की ऐसी होगी की लोग (people) उस से बचने के लिये आपना सब (whole) कुछ देने के लिये तैयार ready) हो जायेगे पर उनके पास दुनिया (world) के बराबर सोना (gold) या दौलत(money) हो तो वोही भी नहीं लि जायेगी! उसका कोई मददगार (no helpers) नहीं होगा ! उनका पर सज़ा(punisument) को कम नहीं की जायेगा !

 नरक में पीने (drink) के लिये उबलता हुआ पानी (boiling water ) दिया जयेगा, ये उनकी आंतो के टुकड़े (to pieces ) कर देगा ! उनको खाने में काटेदार झाडिया दी जायेगी जो उनके गले में चिपक जायेगी !

नरक में एक खाना (food) और मिलेगा जो की उनकी त्वचा (skin) से बहार आ रहा होगा जो दुनिया (world ) में मिलावट और अनाथो का धन (money) धोके लुट से लेते थे! जो उनके निजी अंगो (organ) से निकलता है जो मॉस और त्वचा (skin) को नष्ट करता है !

ये नरक (hell) के लोगो का खाना (food) है ! इस दिन (day ) उनका न कोई दोस्त होगा न कोई मददगार होगा ये खाना (food) गुनाहगार लोगो के लिये है !  ये खाना (food) ना अच्छा लगेगा न कोई स्वाद( नार TASTE) होगा! ये केवल नरक के लोगो को सज़ा (punishment के रूप में काम करेगा!

Narak ya dozakh (hell) kya hai? hell and hell difference between

Narak ya dozakh kya hai ? hell and hell diffrence आपको पता चल गया होगा . आप सोच रहे होगे hell and hell diffrence between क्या है दोस्तों हिन्दू धर्म लोगो इसे नरक कहते है

मुस्लिम लोगो इसे को dozakh या जहन्नम कहते है और english में इस hell कहा जाता है ये हुआ word का diffrence.

दुसरा एक hell या नरक god ने बनाइ थी और एक hell या नरक हम आपने लिये बना रहे है आपने बुरे कर्मो की वजह से जो बहुत ही बुरी जगह है रहने के लिये !

आप को क्या लगता है एक इंसान किसी को जान से मार दिया हो, वो भी मरने के बाद वही जाएगा जहा उसको मरने वाला जाएगा !

दुनिया में बहुत ऐसे लोगो होते है जो बुरे काम कर के बच जाते है पर क्या उनका judgement कही नहीं होगा जिस god ने उनको बनाया है वो नहीं जनता उसने क्या करा है !

god दिल की बातो को भी जानता है जो तुमरे दिल में आती है! इसलिए बुरे काम न करो इससे तुम आपने लिये hell तैयार कर रहे हो! जो हमेशा के लिये होगी उस से तुम freedom मिलेगा या नहीं ये god बेहतर जनता है !

दोस्तों धर्म एक दरवाज़ा है जो हमने बनया है god तक पहुचने का !

इस्लाम एक simple और साफ़ सुथरा दरवाज़ा है जहा लोगो खुदा तक पहुच कर उससे दुआ माग सकते है !

जब की बाकि धर्मो में एक दरवाज़े के पीछे हजारो दरवाज़े बना दीये गए है ! जिससे लोगो एक दुसरे से दरवाजों के लिये ही लड़ रहे है ! जबकि god या अल्लाह या भगवन तो सब के एक ही है !

दोस्तों अगर आपके पास ज्यादा पैसे तो गरीब और जिनकी मदद आप कर सकते और जिनको मदद की जरुरत हो उनकी मदद करे ! जिससे आप dozakh या नरक से बच जाये और बुरे काम ना करे ! और आपने लिये hell की जगह paradise या स्वर्ग बनये जो रहने की जगह है !

Jannat paradise swarg kya hai

इस्लाम में पैगम्बर ( MESSENGER) ने कहा! “ अगर ज़कात को एक बूंद (DROP) भी इस दुनिया (WORLD) में उतरती, तो दुनिया के लोगो (people) और जीविका के सभी साधन सड़ जाते!  इस को खाने (FOOD) वालो के साथ ऐसा होना चाहिए था (तिर्मिधि)

Narak ya dozakh kya (hell) hai? अगर आप को मेरी पोस्ट पसंद आयी हो तो आगे जरुर share करे या कही कोई कमी लगे तो मुझे commnet करे !

 

Leave a Comment