Thyroid bimari aur treatment hindi me

Thyroid BIMARI AUR TREATMENT HINDI ME जाने थाइरोइड समस्या क्या होती है हमारे body पर थायराइड हार्मोन के क्या-क्या effect पड़ते है 

  गर्दन के सामने  thyroid gland (ग्रंथि) स्थित होती है इसमें दाए और बाए लोब होते है जो की तितली (butterfly) जैसे रूप में होती है ये उन प्रक्रियाओ को cantrol करती है जिनके द्वारा body उर्जा का उपयोग किया जाता है thyroid problem  इस प्रक्रिया को speed slow कर सकती है women को thyroid  होने की possibilty men से अधिक होती है,  thyroid symptoms को पहचने और जल्द-जल्द इस का treatment करे!

ये बताना बहुत मुश्किल होता है की thyorid abnormal है, ये आप आपने experience से महसूस कर सकते है! आप आपने आपको बहुत थक्का हुआ महसूस करते है,

  • आप का weight (वजन),
  • pregnant (गर्भवती),
  • hair loss (बालो का झाड़ना),
  • बहुत “hyper” हो जाना या बहुत चिंता करना,
  • noramal से बहुत अधिक पसीना आना,ये अभी problem thyroid के सामान्य symptoms है,

हाइपोथायरायडिज्म और हाईपरथायरायाडीज्म common symptoms Thyroid BIMARI AUR TREATMENT HINDI ME

Thyroid BIMARI AUR TREATMENT HINDI ME
Thyroid BIMARI AUR TREATMENT HINDI ME

  • गले की सुजन थाइरोइड ग्रंथि पहले से ज्यादा बढ़ सकती है,
  • कभी -कभी ये ट्यूमर या गठ सी भी हो सकती है जो थाइरोइड ग्रंथि के भीतर devlop हो सकती है!
  • थाइरोइड ग्लैड में बने होर्मोन almost हर body अंग को प्रभावित करते है, जिसमे heart भी शामिल है,
  • भावनाओ ,मनोदशा, उर्जा को भी प्रभावित करते है! बालो का झाड़ना एक थाइरोइड problem का एक common symptoms है!
  • थोयरोइड हार्मोन कारण कम level पर बाल झाड़ते या बहुत अधिक मात्रा में भी बाल झड सकते है! almost थाइरोइड treatment के बाद बाल वापस उग जाते है!
  • body के temperture को भी थाइरोइड हार्मोन effect करते है!
  • (weight) वजन की कमी के case (weight) वजन का बढ़ना से कम है. थाइरोइड से वजन के बढ़ने के case ज्यादा है!
  • कब्ज का रहना
  • मासिक धर्मं चक्र में changing या असामान्यताए का होना!

  • सुखी skin का होना और भंगुर नाख़ून!
  • हाथो की उगालियो में झुनझुनी का होना या हाथो का कपना!
  • muscle मासपेशियो में कमजोरी का होना!

यादि आपके पास थाइरोइड problem के symptoms दिखते है तो डॉक्टर से थाइरोइड का test कारये! 60 वर्ष से अधिक age की women में हाइपोथायरायडिज्म और हाईपरथायरायाडीज्म दोनों होने के chance common है! थाइरोइड problem का famliy में histroy का होना थाइरोइड होने के रिस्क होना हो बहुत बड़ा देते है!

हाइपोथायरायडिज्म के symtopms

 (weight) वजन की कमी या (weight) वजन का बढ़ना में changing का आना thyorid ग्रंथि के abnormal कार्य के symptoms है, थाइरोइड हार्मोन् का कम होने के स्तर) (हाइपोथायरायडिज्म (weight) वजन की abnormal बढ़ने कारण हो सकता है! हाइपोथायरायडिज्म के कारण heart अधिक धीरे-धीरे धडक सकता है. अवसाद, थकवट, सुस्त महसूस करते है symptoms दिखते है! हाइपोथायरायडिज्म वाले लोगो अक्सर ठंडा अधिक लगने की रिपोर्ट करते है!

read also : 

Alkaline water ke 5 top health benefits kya hai

Osteoporosis in Hindi symptoms and treatment

Heart attack symptoms most important Treatment kya hai

हाईपरथायरायाडीज्म के symptoms

थाइरोइड हार्मोन का उत्पादन बहुत अधिक किया जा रहा हो तो (weight) वजन की abnormal  कमी होने का कारण (हाईपरथायरायाडीज्म) हो सकता है! हाईपरथायरायाडीज्म के कारण heart ब्लडप्रेशर को inceases कर सकता है, और heart speed तेज़ कर सकता और heart तेज़ और जल्दी- जल्दी  धड़क सकता है..नीद की गड़बड़ी या नीद की आनिमियता, चिडचिडापन, चिंता और बेचनी के साथ जुडा हुआ है! हाईपरथायरायाडीज्म से problem को face करने वाले लोगो को पसीना अधिक आता है और गर्मी का सामना करना पड़ता है!

रजोनिवृत्ति (menopause) problem और थाइरोइड विकार

थाइरोइड problem के के कारण! जो रजोनिवृत्ति (menopause के करीब पहुचने वाली women के लिये गलत है. मासिक धर्म चक्र में changing और mood changing रजोनिवृत्ति (menopause) से सक्रमण या थाइरोइड की condistion हो सकती है! blood test यह निर्धरित कर सकता है आपके problem के लिये कौन सी condision जिम्मेदार है दो case के combination से भी बिमारी होने की possibilty हो सकती है!

गर्दन को check करे थाइरोइड disorders के लिये

 जब आप कुछ खाते या निगलते है तो कभी-कभी यह आप पता लगा सकते है की आपका थाइरोइड बढ़ गया है! सिर को पीछे की और झुका कर कुछ खाए और आपनी गर्दन और कोलरबॉन के ऊपर की जगह को check करे! यादि आप किसी भी गांठ या उभर या सुजन को देखते है तो डॉक्टर check काराये की ये थाइरोइड तो नहीं है!

Thyroid BIMARI AUR TREATMENT HINDI ME disorders tests

blood test कई थाइरोइड condision को पता और treatment कर सकता है

थाइरोइड उत्तेजक हार्मोन्स (TSH) एक हार्मोन्स है जो थाइरोइड ग्रंथि की गतिविधि को CONTROL

करता है! यादि आपका TSH अधिक है, तो symptoms ये बात है की आप आपका थाइरोइड FACTION कम है तो ये हाइपोथायरायडिज्म होने को बता है!

अगर आपका TSH का LEVEL कम है तो ये हाईपरथायरायाडीज्म को होने को बात है! कभी-कभी बिच की CONDISTION भी हो सकती है जहा हा पर TSH का level + और – COMBINATION हो सकता है ये सिर्फ test से पता चल सकता है! IMAGING STUDIES और TISSUE BIOPSIES  OTHER test है जो कभी-कभी थाइरोइड problem को मूल्याकन करने के लिये USE  किये जाते है!

हाइपोथायरायडिज्म का कारण हाशिमोटो की DISEASE

हाशिमोटो की DISEASE एक AUTOIMMUNE CONDITION, जो की हाइपोथायरायडिज्म का सबसे COMMON REASON है हाशिमोटो की DISEASE प्रतिरक्षा प्राणली को आपना लक्ष्य बनती है और थाइरोइड गर्न्थी को नुकसान पहुचती है, जिसके कारण पर्याप्त हार्मोन body PRODUCED (उत्पन्न) नहीं कर पती है! ये DISEASE FAMILY के जींस से आगे चलती रहती है!

पिटयूटरी ग्रंथि और हाइपोथायरायडिज्म Thyroid BIMARI AUR TREATMENT HINDI ME

पिटयूटरी ग्रंथि barin के आधार पर स्थित है, यह थाइरोइड के साथ कई अन्य ग्रंथि के कार्यो को cantrol करती है  वह पिटयूटरी ग्रंथि tsh का उत्पादन करता है, जो थाइरोइड ग्रंथि को थाइरोइड हार्मोन बनांने के लिये संकेत देता है! पिटयूटरी ग्रंथि के साथ problem होने पर पर्याप्त tsh का उत्पादन नहीं किया जाता है, यह हाइपोथायरायडिज्म का परिणाम हो सकता है!

ग्रेव्स DISEASE और ग्रेव्स रोग ग्रेव्स रोग high थाइरोइड हार्मोन के स्तर का सबसे common reason है, यह एक ऑटोइम्यून condistion है जिसमे प्रतिरक्षा प्रणाली थाइरोइड ग्रंथि को terget करती है इम्यून सिस्टम अटैक थाइरोइड हार्मोन के high level की रिहाई को ट्रिगर करता है आँखों के पीछे एक सुजन ग्रेव्स रोग का विशेषता reason में से एक है!

गांठ और हाईपरथायरायाडीज्म

जो गांठ थाइरोइड ग्रंथि के अन्दर पाए जाते है ये गांठ थाइरोइड हार्मोन के high level का उत्पादन शुरु कर सकती है, जिससे हाईपरथायरायाडीज्म होता है! बडी गांठ साफ़ देखी जा सकती है, जबकि छोटी गांठ थाइरोइड के अल्ट्रासाउंड में check कर बात सकते है!

Cholesterol और Thyroid Thyroid समस्या treatment हिंदी

हाइपोथायरायडिज्म cholesterol के level को बढ़ा सकता है और आपके दिल के लिये danger हो सकता है heart attack या स्ट्रोक का खतरा बढ़ा सकता है यादि थाइरोइड हार्मोन्स  का level अत्यधिक चढाव, कोमा और शरीर के temperature का कम होना और life के लिये danger हो सकता है हाइपोथायरायडिज्म की other complications bone density का loss हो सकता है!

Thyroid BIMARI AUR TREATMENT HINDI ME

थाइरोइड treatment 

Thyroid ka treatment में common रूप से गोली या teblet थाइरोइड हार्मोन लेना शामिल है! आमतौर पर अगर thyriod  के शुरूआती sypmtoms को पहचान लिया जाये तो thyroid treatment के लिये बहुत बेहतर होता है, बहुत से लोगो को life time थाइरोइड हार्मोन लेना होगा ! कुछ time के बाद, treatment से  वजन (weight) कम हो सकता है, energy (उर्जा) बढ़ सकती है और cholesterol का level कम हो सकता है!

radioactive  iodine Thyroid समस्या treatment हिंदी

रेडियोधर्मी आयोडीन एक treatment का option है जो हफ्तों की अवधि में थाइरोइड गर्न्थी को नष्ट कर देता है! यह एक oral दवा है!

Beta blockers

बीटा ब्लोकर्स actually  में thyroid level के विकारो का treatment  नहीं करते है, लेकिन वे high blood pressure, तेज़ी से heart beat को symtpms में सुधार करती है!

thyroid treatment surgery (thyroidectomy)

Surgery से thyroid gland को निकले के लिये तब recommended किया जाता है जब हाईपरथायरायाडीज्म में anti thyroid दवाए काम नहीं करती है, तो गर्न्थी गंभीर रूप से बढने लगे तो थाइरोइड ट्यूमर के लिये Surgery को use किया जाता है!

थाइरोइड cancer

थायाराइड cancer common नहीं है ये बहुत कम लोगो में पाया जाता है!

cancer symptoms Thyroid

थाइरोइड ग्रंथि में गाठ या सुजन सबसे common symtopms में से एक है only 5%  थाइरोइड गाठ या cancer  danger है.

also reads :

Brain stroke ya dimaag ki nas fatne ki pahchaan kya hai

Treatment cancer

रेडियोधर्मी आयोडीन treatment Surgery से किया जाता है.

 

मेरी पोस्ट आपको पसंद आये तो like और share जरुर करे !

Leave a Comment