Uterus cancer kya ho sakta hai ? Uterus infection se

 गर्भाशय कैंसर  ये question Uterus cancer kya ho sakta hai ? Uterus infection se ? का answer जाने के लिए हमें uterus और cancer के बीच की कड़ी को समझना होगा और जानना  होगा की गर्भाशय में कैंसर कैसे होता या हो सकता है?

uterus (गर्भाशय) क्या है और हमारी body में क्या काम करता है ?

uterus जिसको hindi में गर्भाशय कहते है! जो एक female organ है जो की प्रजनन (reproductive system) का काम करता है!

जो मासिक धर्म ( period ,  गर्भधारण (pregnancy). और प्रसव (dilivary) के कामो के लिए RESPONSIBLE है !

ये body हार्मोन्स CHANGING या हार्मोनल को CONTROL करने में important role निभाता है! uterus भूर्ण को safety देता है और गर्भ में उसका पालन-पोषण (develop) करता है!

female organ में संक्रमण या Uterus infection कैसे या क्यों होता है?

प्रजनन अंगो पर संक्रमण या infection विभिन्न कीटाणु से जनन अंगो में संक्रमण होता है ! ये male या female दोनों को हो सकते है! पर महिलाओं को अधिक होने की possibly रहती है क्योकि उनकी body रचना और

कार्यप्रणाली ऐसी बनी है जिससे कीटाणुओं के लिए अधिक अनुकूल है जहा वो आसानी प्रवेश कर सकते है! डिलीवरी, सहवास, गर्भपात, कॉपर-टी लागने सफाई न होना, या योनि में कीटाणु की अत्याधिक व्यद्धि संक्रमण या infection बन सकता है! इससे महिलाओ के प्रजनन organ या uterus infection हो सकता है और इस पर ध्यान नहीं दिया तो आगे चलकर ये uterus cancer या महिला के अन्य प्रजनन अंगो कैंसर का रूप ले सकता है!

female organ uterus jise garbhashay kahte haiगर्भाशय कैंसर क्या है!

गर्भाशय की अदरूनी परत को एडोमेट्रियम कहते है! जब ये कोशिकाए या tissue abnormal रूप से बढ़ने लगे तो ये कैंसर का रूप ले सकता है!

ये बहुत जानलेवा और life के खतरनाक है इससे महिला माँ बनने की क्षमता हमेशा ले लिए खो सकती!

एडोमेट्रियम cancer  को uterus cancer गर्भासय कैंसर या बच्चेदानी का कैंसर भी कहा जाता है! क्योकि इससे retirement में बच्चदानी को निकल दिया जाता है!

अगर गंभीर अवस्था में  cancer का पता चलता है तो इस में मरीज़ जान बचना बहुत मुश्किल हो जाता है

UTERUS cancer की starting कैसे हो सकती है ?

इस cancer की शुरुआत कैसे हो सकती है इस कोई निश्चित नियम तो नहीं है!

पर बढता POLLUTION और हमारा खान-पान हमारी lifestyle जैसे खाने में शराब, धुम्रपान, FAST food या यौन सम्बन्ध से uterus infection हो जाना

और जिस time रहते या जल्दी treatment न होना जो की UTERUS cancer के लिए जिम्मेदार बन सकता है!

भारत में cancer के मरीज

अगर India में cancer के मरीज़ की बात करे तो

पुरे भारत में 60% cancer के ममाले मुंह,(MOUTH से relative) स्तान(BREAST), गर्भाशय कैंसर (uterus cancer) के होते है!

एक very important INFORMATION से ये है Starting में इसको रोक दे

और आगे बढ़ने से और आगे अन्य body part तक फैलने से पहले इसका पता चल जाये

और इसका TREATMENT शुरू कर दिया जाए! तो 99% लोगो को बचाय जा सकता है!

पर सबसे बड़ी PROBLEM cancer को लेकर ये है 75% लोगो को जिसमे LADIES भी शामिल है!

जब CANCER की बिमारी बहुत बढ जाने पर इसकी जाच (TEST) या इलाज (TREATMENT) starting करते है!

uterus cancer kya ho sakta hai uterus infection गर्भाशय कैंसर

गर्भाशय cancer कौन AGE या उम्र में होते है?

इस की कोई आगे LIMIT नहीं है 1 साल की AGE या उम्र से लेकर 70 से 80 तक LADIES में या किसी भी उम्र ये बीमारी हो सकती है! डॉक्टर के पास ऐसे कई CASE आते रहे जहा छोटी-छोटी बच्चियों को गर्भाशय में cancer पाया गया है ! अगर अनुपात (PERSENTGE) की बात की जाए तो 70 LADIES में से एक को गर्भाशय कैंसर या uterus cancer होता है! और कुछ LADIES को ये बीमारी आनुवांशिक रूप से मिली होती है!

बीआरसीए 1 और बीआरसीए 2 जीन में इस बिमारी के होने सम्भावाना अधिक होती है! साथ स्तन (BAREST) cancer POSSIBILITY भी बढ सकती है!

Sanitary pads ya ladies napkin  संक्रमण में सुरक्षा देता या कैंसर को बढ़ावा देता है!

पुराने time में महिला पीरियड्स या मासिक धर्म के time घर बहुत कम निकलती थी! और साथ-साथ मासिक धर्म कपडा का use करती थी !

जिस को आज भी गाँव और शहर में 50% almost use कर रही है! पर अगर एक महिला पीरियड्स या मासिक धर्म में कपडे का उपयोग करती है

सबसे बड़ी problem ये है! जो वो कपडा मासिक घर्म में होने वाली bleeding को सोख न पाए वो bleeding ladies योनि के आस-पास रह जायेगी!

navbharat times report : Sanitary pads और ladies में cancer

जिसके कारण उनको  गर्भाशय संक्रमण (uterus infection) या दुसरे female organ पर infection  की वजह बन सकते है! जो बाद में uterus cancer या दूसरा कोई कैंसर बन सकता है!

sanitary napkin आने बहुत महिला उस उपयोग कर आपने घर और बहार के कमो को आसानी से कर पा रही है

जैसे अगर किसी लड़की या महिला पीरियड्स या मासिक धर्म start होता था वो time घर पर रहती थी! पर sanitary pads की वजह से अब ऐसे नहीं है!

लडकिया और महिला इस का use कर के स्कूल और collage और जॉब करने और market कुछ खरीदने के लिए या बहुत से कम करने के लिए आज वो free है!

sanitary pads या ladies napkin आने के बाद uterus या दूसरा female organ में cancer की possibility को कम कर दिया है!

पर कुछ बातो का रखे ध्यान!

सस्ते sanitary pads infection और बाद में cancer का करना बन सकते है!

सस्ते या घटिया sanitary pads pads प्लास्टिक से बनता है जिसमे बी पी ए जैसे कई chemical डाले जाते है जो की female organ को ख़राब कर सकते है !

sanitary pads पूरी तरह से रूई से नहीं बनते है इन्हें बनाने के लिए सेलुलोज जेल ( सिंथेटिक फाइबर) का use किया जाता है घटिया या सस्ते sanitary pads में low quality के डाले जा सकते है जो सर्विकल या दुसरे कैंसर का करना बन सकता है ये माना जाता है !

ड्रग कंट्रोलर भी कहते है sanitary pads कोई दवा या medicine नहीं है इसलिए इस पर बी आई एस standard लागू होते है बी आई एस standard के तहत company को licence लेने जरुरी नहीं है!

 घटिया sanitary pads बन सकते कैंसर के कारण !

1980 में sanitary मानको के अनुसार pads में सोखने की क्षमता 30 एमल ही रखी गई जिसको doctor के अनुसार यह कम से कम 50 एमल तो होनी ही चीहिये!

अब आप ही ये decide करे जैसे कपडा पीरियड्स या मासिक धर्म के time bleeding को सोख नहीं पता है वैसे ही अगर कोई sanitary ladies napkin

bleeding को सोख न पाए और female part वो bleeding लगी रहे जिससे कीटाणु बहुत आसानी female organ जा सकते जो की infection का cancer करण बन सकता है! इसलिए कहा भी जाता है

https://www.youtube.com/watch?v=80UMomsj-Fs&t=3s

sanitary napkin का लम्बे समय तक इस्तेमाल (use) करने कैंसर हो सकता है ! इसलिए घटिया या सस्ते sanitary pads को use करने से बचे जिनकी सोखने की क्षमता कम हो और घटिया प्लास्टिक use की हो ! उससे अच्छा वो sanitary ladies napkin का use जो best हो! best sanitary pads

doctor कहते है

अगर किसी महिला या LADIES के किसी family MEMBER को पेट, स्तन या गर्भाशय में cancer रह चूका तो ये बीमारी आनुवांशिक रूप other ladies हो सकती है ! क्युकि family की ये बीमारी उनके DNA से आगे forward होती रहती है !

इसलिए उन लोगो इस बीमारी के प्रति ज्यादा careful रहना चाहिए !

alkaline ionized water cancer से बचने के लिए !

Uterus (गर्भाशय) problem के symptoms

  1. मासिक धर्म(period) में अधिक blood निकला!
  2. abnormal या बदबूदार योनि स्राव !
  3. pelvic में दर्द या पेट में सुजन या पेट में दर्द महसूस करना
  4. मासिक धर्म (period) या यौन संबध बनाते time दर्द
  5. पेशाब (urine) या मल त्याग के time दर्द का होना!
  6. बार-बार पेशाब (urine) का आना
  7. मासिक धर्म (irregular period ) में आनिमितता
  8. खाने-पीने में मुश्किल होना या भूख न लगना !
  9. खाने-पीने में मुश्किल होना या भूख न लगना !
  10. सांस लेते time तकलीफ का रहना!अगर इसमें कुछ symptoms या कोई भी symptoms आपको दिखे और दो सप्ताह या उसे अधिक time तक continue ऐसी problem होती हो  (गर्भाशय) Uterus infection se uterus cancer का रूप न लेने !
  11. इसलिए तुरंत doctor से जांच कराए!                                                                                                                                                                                                                              आपको मेरी पोस्ट Uterus cancer kya ho sakta hai ? Uterus infection se अगर आपको पसंद आये और आपको लगे ये दुसरो के लिए काम की है तो मेरी पोस्ट आप आगे share जरुर  करे !

Leave a Comment